Translate

सोमवार, 13 सितंबर 2010

dahej

आज दहेज़ प्रथा एक अभिशाप बन चुकी है इस युग मै लडके के माता पिता लडके की अच्छी कीमत मांगते है .यदि उन्हें उनकी सोच से कम कीमत मिलती है तो बहू को विभिन्न प्रकार से प्रताड़ित किया जाता है .चाहे बहू कितनी भी सुंदर और गुणवान क्यों न हो .बात -बात पर उसे व उसके माता पिता को अपमानित किया जाता है .यह क्यों होता है .मुख्य रूप से इसका कारण हमारी मानसिकता है क्योंकि हम चाहते है की हमारी लडकी की शादी हमसे ऊचें घराने में हो.हमें अपनी सोच बदलनी होगी .हमें अच्छा घर नही अच्छा वर देखकर शादी करनी होगी .तभी इस कुप्रथा से छुटकारा मिल सकेगा ;
एक टिप्पणी भेजें